रेल मंत्री ने हरी झंडी दिखाकर दरभंगा सहरसा रेल खंड पर परिचालन किया शुरू

72


रेल मंत्री ने हरी झंडी दिखाकर दरभंगा सहरसा रेल खंड पर परिचालन किया शुरू

समस्तीपुर: अश्विनी वैष्णव, रेल, संचार, सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री द्वारा
नई दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से
आज दिनांक 07.05.2022 को
झंझारपुर-निर्मली आमान परिवर्तित रेलखंड (32 किमी) एवं
निर्मली-आसनपुर कुपहा नई रेल लाईन (06 किमी) का उद्घाटन एवं
नए रेलखंड पर ट्रेन सेवाओं के परिचालन का हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया.इसके उपरांत माननीय रेल मंत्री महोदय द्वारा नए रेलखंड पर ट्रेन सेवाओं के परिचालन का शुभारंभ गाड़ी संख्या 05553 झंझारपुर-सहरसा डेमू स्पेशल को उद्घाटन स्पेशल के रूप में हरी झंडी दिखाकर किया गया ।

इस अवसर पर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से झंझारपुर में उपस्थित गणमान्य अतिथियों एवं जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है क्योंकि आज 88 बर्षों के बाद इस क्षेत्र की एक बहुत बड़ी समस्या का समाधान हुआ है । इस रेलखंड के चालू हो जाने से कोसी नदी के दोनों छोर के लोगों की वर्षों पुरानी लंबित मांग पुरी हो रही है । उन्होंने कहा  कि माननीय प्रधानमंत्री जी का विजन है कि पूर्वी क्षेत्र के उदय से ही भारत का उदय संभव है । साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार में रेल अवसंरचना एवं यात्री सुविधा के विकास कार्यों हेतु इस वर्ष 6600 करोड रूपये का आवंटन किया गया है ।

इस अवसर पर झंझारपुर स्टेशन पर भी एक समारोह का आयोजन किया गया जिसमें ऊर्जा, योजना एवं विकास मंत्री, बिहार सरकार, बीजेंद्र प्रसाद यादव; परिवहन मंत्री, बिहार सरकार, शीला कुमारी; सांसद, झंझारपुर, रामप्रीत मंडल; सांसद, सुपौल, दिलेश्वर कामैत; सांसद, मधेपुरा, दिनेश चन्द्र यादव; विधायक, झंझारपुर, नीतीश मिश्रा सहित कई गणमान्य अतिथिगण उपस्थित थे .

विदित हो कि यह परियोजना 206 किलोमीटर लंबे सकरी-लौकहा बाजार-निर्मली एवं सहरसा-फॉरबिसगंज आमान परिवर्तन परियोजना का भाग है।  इस परियोजना की कुल स्वीकृत लागत 1584 करोड़ रूपए है । इसके साथ ही 491 करोड़ रूपए की लागत से कोसी मेगाब्रिज का निर्माण किया गया है जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के कर-कमलों द्वारा 18 सितंबर, 2020 को देश को समर्पित किया गया था । 32 किमी लंबे झंझारपुर-निर्मली आमान परिवर्तन तथा 06 किमी लंबे निर्मली-आसनपुर कुपहा नई रेल लाईन के निर्माण पर 456 करोड़ रूपए की लागत आयी है । इस रेलखंड के चालू हो जाने से  88 वर्षों के बाद दो भागों में विभाजित मिथिलांचल के बीच रेल संपर्क पुनः स्थापित हो जाएगा । इससे इस क्षेत्र के लोग रेलवे के विशाल नेटवर्क से जुड़ जाएंगे जो लोगों के लिए आर्थिक समृद्धि का द्वार खोलेगा ।

इस नव उद्घाटित रेलखंड पर लहेरियासराय और सरहसा के बीच झंझारपुर-निर्मली-आसनपुर कुपहा-सरायगढ़-सुपौल के रास्ते 03 जोड़ी नई डेमू स्पेशल ट्रेनों का परिचालन दिनांक 08.05.2022 से नियमित रूप से किया जायेगा जिनका विवरण निम्नानुसार है –

लहेरियासराय से –
1. गाड़ी संख्या 05545 लहेरियासराय-सहरसा डेमू स्पेशल –  यह डेमू स्पेशल  लहेरियासराय से सुबह 05.05 बजे खुलकर सभी स्टेशनों/हाल्ट पर रूकते हुए 10.50 बजे सहरसा पहुंचेगी ।
2. गाड़ी संख्या 05543 लहेरियासराय-सहरसा डेमू स्पेशल –  यह डेमू स्पेशल  लहेरियासराय से 12.05 बजे खुलकर सभी स्टेशनों/हाल्ट पर रूकते हुए 18.05 बजे सहरसा पहुंचेगी ।
3. गाड़ी संख्या 05547 लहेरियासराय-सहरसा डेमू स्पेशल –  यह डेमू स्पेशल  लहेरियासराय से 20.05 बजे खुलकर सभी स्टेशनों/हाल्ट पर रूकते हुए मध्य रात्रि 01.30 बजे सहरसा पहुंचेगी   ।
सहरसा से –
1. गाड़ी संख्या 05544 सहरसा-लहेरियासराय डेमू स्पेशल – यह डेमू स्पेशल  सहरसा से 05.15 बजे खुलकर खुलकर सभी स्टेशनों/हाल्ट पर रूकते हुए 11.30 बजे लहेरियासराय पहुंचेगी   ।
2. गाड़ी संख्या 05548 सहरसा-लहेरियासराय डेमू स्पेशल – यह डेमू स्पेशल  सहरसा से 11.10 बजे खुलकर खुलकर सभी स्टेशनों/हाल्ट पर रूकते हुए 17.15 बजे लहेरियासराय पहुंचेगी   ।
3. गाड़ी संख्या 05546 सहरसा-लहेरियासराय डेमू स्पेशल – यह डेमू स्पेशल  सहरसा से 18.35 बजे खुलकर खुलकर सभी स्टेशनों/हाल्ट पर रूकते हुए 23.55 बजे लहेरियासराय पहुंचेगी .