बेगूसराय जिले के गढ़पुरा बाजार में अक्सर वन वे के बावजूद भी जाम का लगना प्रशासनिक लापड़वाही ।

112

गढ़पुरा(बेगूसराय):   * गढ़पुरा बाजार में अक्सर जाम का लगना प्रशासनिक अधिकारियों पर लापड़वाही होने का  प्रश्नचिन्ह खड़ा करती है । *

ब्यूरो प्रमुख की रिपोर्ट :-

बेगूसराय जिले के गढ़पुरा प्रखंड मुख्यालय समीप से बखरी की ओर जानेवाली पथ ‘गढ़पुरा बाजार’ में अक्सर जाम का लग जाना कहीं ना कहीं प्रशासनिक लापड़वाही को उजागर करता है । प्रशासन की ओर से गढ़पुरा बाजार होते हुए बखरी की ओर जानेवाले पथ में “वन वे” अधिनियम लागू  है इसके बावजूद भी “वन वे” नियमों की धज्जियां बड़े आसानी से उड़ाई जा रही है ।

गढ़पुरा बाजार में भीषण जाम की तस्वीर ।

बताते चलें कि गढ़पुरा बाजार में अक्सर बड़े वाहनों का प्रवेश पूर्वाह्न 7:00 बजे से संध्या के अपराह्न 9:00 बजे तक नो एंट्री लगा हुआ है फिर  भी प्रशासनिक लापरवाही के कारण बड़े वाहन प्रवेश हो जाती है । बाजार में जाम और तब लग जाता है जब बड़े वाहनअचानक बड़े बहनों की खड़ाब हो जाने के कारण अक्सर जाम की समस्या उत्पन्न होती है ।

गढ़पुरा बाजार में संचालित सभी दुकानदारों एवं गढ़पुरा वासियों का प्रशासन के खिलाप सीधा आरोप  है कि प्रशासनिक लापड़वाही के कारण इस प्रकार की  जाम की समस्या उत्पन्न होती है । गढ़पुरा बस स्टैंड चौक पर बैरिकेडिंग व चौकीदार की ड्यूटी लगी हुई है फिर भी बड़े वाहन के चालक बाजार में प्रवेश कर जाते हैं । नतीजा यह होता है कि बाजार में जाम की स्थिति उत्पन्न जाती है । गढ़पुरा बाजार में जाम हो जाने से बड़े वाहनों के कारण छोटे-छोटे हजारों वाहनों को भी गंतव्य स्थान जाने में घंटों इंतजार करना पड़ता है ।

आखिर इन परेशानियों से दुकानदार , गुजरने वाले राहगीर एवं इमरजेंसी वाहन जैसे एंबुलेंस  एवं अग्निशमन वाहन को भी जाम में फंसना व घंटों इंतजार करना पड़ता है । जिसका बुरा असर आम जनों को झेलना पड़ता है । जाहिर सी बात है कि अगर क्षेत्रीय प्रशासन व जनप्रतिनिधि आज तक इसका संज्ञान लिए होते तो इस तरह की समस्या उत्पन्न ही नहीं होती । साफा स्पष्ट है कि इस प्रकार की समस्या के पीछे प्रशासनिक हस्तक्षेप भी सामने उजागर होती है ।