गढ़पुरा प्रखण्ड अन्तर्गत बलुआहा ग्राम में बड़े धूमधाम के साथ मनाया गया अम्बेडकर जयंती।

177

गढ़पुरा(बेगूसराय):  *बड़े धूमधाम से मनाया गया “अम्बेडकर जयंती” समारोह।*

गढ़पुरा प्रखंड के ग्राम में विश्व रत्न,बोधिसत्व, सिंबल ऑफ नॉलेज,संविधान के महान शिल्पकार, महान अर्थशास्त्री व बहुभाषिक विद्वान, महा महामानव, बहुजनों के महानायक बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर जी के जयंती समारोह काफी हर्सोल्लास के साथ सभी प्रखंड वासियों ने मिलकर मनाए । जिसमें बखरी विधानसभा के पूर्व विधायक माननीय श्री रामानंद राम जी ने बाबा साहब की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए समस्त क्षेत्रवासियों से यह अपील किए की एक रोटी कम खाए लेकिन अपने अपने बच्चों को अवश्य पढ़ाए क्योंकि “शिक्षा वह शेरनी का दूध है, जो पिएगा वही दहाड़ेगा”।

 

बलुआहा गांव में बाबासाहेब डॉ० भीमराव अम्बेडकर जी के प्रतिमा माल्यार्पण के बाद की सामुहिक तस्वीर।

 

वहीं रजौर पंचायत के वार्ड सं० 9 के वार्ड कमिश्नर सह उपमुखिया माननीय श्री रविंद्र कुमार यादव जी ने बाबा साहब के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए अपने पंचायत के आम-आवाम से अपील करते हुए कहें कि आप अपने बच्चों को विद्यालय भेजें एवं उनके पठन-पाठन व विद्यालय के अंतर्गत अन्य किसी भी प्रकार के कमी महसूस होता है तो हमें अविलंब सूचित करें जिससे हम और विद्यालय के शिक्षा समिति व स्कूल सचिव तथा विद्यालय के सभी शिक्षकों के सहयोग से उन सभी बिंदुओं पर विचार कर उसमें सुधार करवाएंगे। भारत मुक्ति मोर्चा के नेता मान्यवर श्री लक्ष्मी पासवान तथा रजौर के कई समाजसेवी व्यक्ति- अशोक कुमार, चंदन कुमार, पप्पू कुमार पासवान,शिव कुमार, राहुल कुमार, पंकज राम, जितेंद्र राम, संतोष राम तथा चंदन दास ने बाबा साहब के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उनके द्वारा बताए गए रास्ते पर चलने संकल्प लिया तथा आम-आवाम से यह अपील किए कि अपने समाज में जो कुरितियां है उससे बचे तथा नशा,जुआ जैसी गंदे आदतें को त्यागकर अपने और अपने समाज को आगे की ओर कैसे ले जाएं इन बातों पर हमेशा चिंतन-मनन करते रहे।

इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए बाबा साहब की जनजागृति रथ ग्राम बलुआहा से निकालकर पार्वतीपुर के रास्ते से होते हुए मथवा,छोटी केवाल,बड़ी केवाल, पगुराहा,कोरियामा कुॅवरटोल,कुम्हारसों,गढ़पुरा हरीगिरीधाम,गढ़पुरा बाजार,गढ़पुरा चौक ,बिहार केसरी डॉक्टर श्री कृष्ण सिंह कॉलेज के रास्ते से रक्शी चौक से होकर मानिकपुर,रजौर तथा सकड़ा भ्रमण करते हुए हरसाईन चौक होते हुए पुनः बलुआहावा ग्राम में रथ यात्रा का समापन कर लगभग 50 बच्चों के बीच कॉपी-कलम बांटकर उन्हें पुरुस्कृत किया गया तथा अंत में मान्यवर श्री लक्ष्मी पासवान जी अपने संबोधन संभाषण के द्वारा धन्यवाद ज्ञापन करते हुए कार्यक्रम को समापन किए।