रामानुज सिंह, “गौतम” जी द्वारा लिखित संदेश।

89

पटना(बिहार) : शोषित समाज दल ( स्थापित सात अगस्त 1972 ) एक संघर्षरत गतिशील राजनीतिक संगठन है । इसके लंबे संघर्ष की कुछ उपलब्धियाँ भी है , विशवसनीय है । इसके नेतृत्व बिना बिके , बिना झुके , बिना रुके आजीवन शोषित, पिडित, वंचित और उपेक्षित समुदाय के लिए सड़क से संसद के गेट तक संघर्ष रत रहे हैं । लेकिन कुछ फ़र्ज़ी कार्यकर्ताओं के वजह से इनका वोट  प्रतिशत गिरता रहा है , कुछ पूँजीवादी शक्तियों के मिडिया द्वारा लहर पैदा कर अक्षम नेताओं को आगे प्रस्तुत करने के कारण पार्टी क्षतिग्रस्त हुआ है । लेकिन अब सारे षड्यंत्र को ख़त्म कर नये शिरे से युवाओं के हाथ नेतृत्व देकर मज़बूत  कर सत्ता केंद्र में लाना है । इसकी तैयारी ज़ोर शोर से चल रहा है । कमी केवल आपके जुड़ने भर की है । इससे जुड़े और लोग को जोड़े । ग़लत न्यूज़ फैलाने वालों को चिन्हित कर उचित समय पर सही  निर्देश का इंतज़ार करे । शोसद का मुख पत्र शोषित साप्ताहिक पढ़े और पढ़ाये । इससे समझ बढ़ेगी और पार्टी से जुड़ने का हिम्मत भी । सधन्यवाद, जय भारत ।