बीते दिन शुक्रवार को गढ़पुरा पीओ बिन्दु कुमारी ने मौजी हरिसिंह पंचायत के पीआरएस संध्या कुमारी के साथ बेरहमी से झड़प के साथ मारपीट की।फिर पुलिस हिरासत में बेगूसराय जेल भेज दिया गया ।

123

गढ़पुरा(बेगूसराय): बीते दिन शुक्रवार को गढ़पुरा पीओ  बिन्दु कुमारी ने  मनरेगा कार्यालय में मौजी हरिसिंह पंचायत के पीआरएस संध्या कुमारी के साथ बेरहमी से मारपीट की और बाहर से ग्रील बन्द करके ताला भी जड़ दिया गया।बारंबार पीआरएस संध्या कुमारी द्वारा कड़ाहने व चिल्लाने की आवाज को सुनते हीं मीडिया वाले पहूंचे । मौके पर गढ़पुरा पुलिस बल पहुंचकर मनरेगा कर्मी से चाबी मांगकर ताला खोला और फिर मौजी हरिसिंह पंचायत के पीड़ित महिला रोजगार सेवक संध्या कुमारी को मनरेगा कार्यालय से सुरक्षा वास्ते थाना पर ले आये।

गढ़पुरा पीओ बिन्दु कुमारी ने  मौजी हरिसिंह पंचायत के पीआरएस संध्या कुमारी के साथ बेरहमी से मारपीट की और फिर  बाहर से ग्रील बन्द करके ताला लगा दी

मिली जानकारी के मुताबिक वर्ष 2008 से हीं दोनों के बीच झरप व कहा-सुनी होती आ रही है ,जब ये दोनों बखरी प्रखण्ड कार्यरत थे।इस बाबत वरीय पदाधिकारियों सोचना चाहिए था जब दोनों के बीच एक रूपता नहीं बनती है,तो अलग-अलग प्रखंडों में प्रतिनियुक्त करना चाहिए। संध्या कुमारी ने अपने ब्यान में बतायी कि पीओ बिन्दु कुमारी के द्वारा 15 से 20 प्रतिशत कमीशन मांगा गया,जो मैने अस्वीकार कर दिया, इसलिए पीओ के साथ आनाकानी शुरू हुई,”उल्टे चोर कोतवाल को डांटे।”साफ तौर से इस घटना के पीछे पीओ बिन्दु कुमारी की मनमानी रवैया है। ऐसे पीओ के ऊपर कठोर से कठोर कार्रवाई अदालत के द्वारा होनी चाहिए।पीओ बिन्दु कुमारी के द्वारा महिला रोजगार सेवक संध्या कुमारी पर जो आरोप लगाई गई है व साफ तौर से बनी बनाई साजिश रचकर उसे गढ़पुरा पुलिस द्वारा पुलिस हिरासत में  बेगूसराय जेल भेजा गया।