फतेहपुर में ग्रामीणों ने मुसरीघरारी पुलिस को बनाया बंधक

74

फतेहपुर में ग्रामीणों ने मुसरीघरारी पुलिस को बनाया बंधक

6 घंटा बाद पुलिस को किया बंधन मुक्त

कई थानों की पहुंची पुलिस

सरायरंजन : मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के फतेहपुर गांव में मृतक संजय कुमार सिंह के पिता को पुलिस गिरफ्तार करने गई थी लेकिन ग्रामीणों ने पुलिस को बंधक बना लिया. उसके बाद एनएच 28 को जाम कर पुलिस पदाधिकारियों के प्रति आक्रोश जता रहे थे. आक्रोशित लोगों का कहना था करीब 20 दिन पूर्व झगरू सिंह के पुत्र संजय कुमार सिंह की अपराधियों ने हत्या कर गांव के ही चौर में लाश फेंक दी थी. लाश मिलने के बाद मुसरीघरारी थाना में परिजन द्वारा पांच लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई थी. पुलिस द्वारा आश्वासन दिया था कि उक्त अपराधी को 1 सप्ताह के अंदर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा. मगर उसमें एक भी गिरफ्तारी नहीं हुई.उसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने सड़क जाम किया. उसमें भी पुलिस द्वारा आश्वासन दिया कि 4 से 5 दिनों में सभी अपराधियों का सुराग लगा लिया गया और गिरफ्तार कर लिया जाएगा. अब तक उसमें एक भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई. आक्रोशित का कहना था कि शनिवार की सुबह पुलिस मृतक के पिता झगरू सिंह के साथ जबरदस्ती कर थाने पर गिरफ्तार कर ले जा रही थी. जिससे आक्रोशित होकर ग्रामीणों ने पुलिस को बंधक बना लिया. उसके बाद मृतक के पिता को पुलिस के चंगुल से छुड़ाया. जिससे आक्रोशित होकर फिर से ग्रामीणों ने एनएच 28 को जाम कर वरीय अधिकारी को बुलाने की मांग कर रहे थे. उनका कहना था कि अभी तक अपराधियों का गिरफ्तारी नहीं किया गया है, बल्कि मृतक के परिजन को पुलिस द्वारा तंग किया जा रहा है. वहीं सड़क जाम मामले में आरोपित लोगों को पुलिस गिरफ्तार करने के लिए परेशान है. लोगों का कहना था कि वरीय अधिकारी पहुंचे और सड़क जाम मामला समाप्त करें और अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करें और निर्दोष लोगों को तंग करना छोड़ दें. जाम की सूचना पर सरायरंजन थाना, ताजपुर थाना, मुफस्सिल इंस्पेक्टर देवेंद्र प्रसाद यादव सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि मौके पर पहुंचकर आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया और सड़क जाम मामला समाप्त करने का आश्वासन दिया तब जाकर करीब 6 घंटे बाद मुसरीघरारी पुलिस को बंधन मुक्त किया. बंधक बने मुसरीघरारी थाना के एसआई उदय शंकर ने बताया कि झगरू सिंह के पुत्र अमित कुमार सिंह को गिरफ्तार करने गए थे. उन पर पूर्व से शराब का मामला चल रहा था. उस मामले में गिरफ्तारी वारंट निकला हुआ था.