आदर्श मध्य विद्यालय गढ़पुरा(बेगूसराय) की प्रवेश द्वार बाहरी वातावरण।

190
  • गढ़पुरा (बेगूसराय):- प्रखण्ड कार्यालय के समीप आदर्श मध्य विद्यालय गढ़पुरा(बेगूसराय) एक ऐसा विद्यालय है , जो आज से वर्षों पूर्व प्रखण्ड क्षेत्र के गौरवशाली विद्यालयों में से एक आदर्श विद्यालय था, लेकिन आज क्या हुआ कि वही विद्यालय,वही स्थान!पर विद्यालय की विधि-व्यवस्था व पठन-पाठन बिल्कुल चौपट – सी हो गई । इस विद्यालय के खाता में विद्यालय के नाम से भी तो वार्षिक विकास निधि की राशि आती है  ,  बावजुद भी विद्यालय की रंगाई-पुताई भी हर वर्ष नहीं की जाती है । आखिरकार कारण क्या है ? अगर इस विद्यालय के प्रधान शिक्षक के पास हर सवाल का जवाब है तो अतिशीघ्र विद्यालय की साफ-सफाई एवं रंगाई-पुताई करवा दें , इसी में आपकी भलाई है  ।  इस विद्यालय के प्रति आम आवाम की भी नजर नहीं है जिसका परिणाम आज इस आदर्श विद्यालय को भुगतना पड़ रहा है।
आदर्श मध्य विद्यालय गढ़पुरा(बेगूसराय) की प्रवेश द्वार की तस्वीर ०१
आदर्श मध्य विद्यालय गढ़पुरा(बेगूसराय) एवं गढ़पुरा प्रखण्ड कार्यालय के बीच गढ़पुरा चौर जानेवाली गली के मुख्य पथ बाजार जानेवाली सड़क के किनारे टेम्पु खड़ी करनेवाली तस्वीर ०२

गढ़पुरा आदर्श मध्य विद्यालय की विकासात्मक रवैया।इस आदर्श मध्य विद्यालय के प्रधान शिक्षक कैसा कि इस विद्यालय की सर्वागीन विकास के प्रति थोड़ा भी उत्कृष्ट योगदान भी सही रूप से निर्वाहन नहीं करते हैं।अगर इस आदर्श मध्य विद्यालय के प्रधान आदर्श शिक्षक हैं तो इस विद्यालय के सर्वांगीन विकास सोच के केन्द्र में स्थापित करें क्योंकि यह एक मात्र ऐसा विद्यालय है जो प्रखण्ड क्षेत्र का गौरव है।तनिक भी शर्म आती है तो सबसे पहले विद्यालय के चारों तरफ साफ-सफाई एवं विद्यालय के सामनेवाली भाग जहां पर कचड़ा की सफाई व तिपहिया टेम्पू नहीं खड़ी करने दें।चूकि शर्मिंदा हमें होती है।
यह आदर्श मध्य विद्यालय प्रखण्ड कार्यालय के बगल में हीं स्थापित है फिर भी इस विद्यालय के प्रधान शिक्षक को दहशत नाम की भय नहीं है कारण है कि अधिकारी से लेकर कर्मचारी स्तर तक के सभी का मिलीभगत व सांठ-गांठ बनी रहती है।इन सभी विन्दुओं पर अधिकारीगण की नजर भी पड़ती है तो सभी आपस में सांठ-गांठ कर लेते हैं।सेवेन स्टार न्यूज इंडिया “न्यूज पोर्टल मेंंंआपका हार्दिक स्वागत  है ।